A Unit of Jai Kala Education Society
info@arisecollege.com   Admission Open

Admission Open Call Now: +91 6376015735



Blog




Distance Education से पढ़ाई

आज के दौर की एक नायाब जरूरत Distance Education.
Distance Education जिसमे कोई भी छात्र जो नियमित क्लास से नहीं जुड़ सकता किन्तु एक अच्छी डिग्री लेना चाहता है। वह Distance Education के सहारे अपने इस ख्वाब को पूरा कर सकता है। Distance Education में कोई भी छात्र अपनी मनचाही यूनिवर्सिटी जो Distance Education का विकल्प देती हो उसमे अपनी मनचाही डिग्री के लिए एडमिशन ले सकता है और अपने करियर को सवार सकता है। आज भारत में कई ऐसी प्रतिष्ठित यूनिवर्सिटी और कॉलेज है जो Distance Education का विकल्प देते है।


एडमिशन प्रक्रिया –

जिस तरीके से रेगुलर में एडमिशन प्रक्रिया होती है वैसे ही इसमें भी होती है। लेकिन इसमें कॉलेज या यूनिवर्सिटी जाने की आवश्यकता नहीं पड़ती है। कोई छात्र अपने शहर से मनचाही यूनिवर्सिटी से सम्पर्क साध कर ऑनलाइन फॉर्म भर कर इसमें एडमिशन ले सकता है। एडमिशन पूरा होने के बाद कॉलेज छात्र को पढाई की सारी सामग्री उपलब्ध करवा देती है। पढाई की सामग्री से छात्र खुद पढाई करके ऑनलाइन या ऑफलाइन तरीके से एग्जाम देकर डिग्री प्राप्त कर सकता है।


किनके लिए ज्यादा फायदेमंद –

  • वैसे तो Distance Education सभी के लिए फायदेमंद है। लेकिन उनके लिए ज्यादा फायदेमंद है जो रेगुलर क्लास अटेंड नहीं कर सकते। इसमें ज्यादातर वो लोग होते है जो किसी नौकरी में व्यस्त होते है। नौकरी करते हुए कोई भी Distance Education से मनचाही डिग्री लेके अपनी नौकरी या करियर में तरीके के लिए इस्तमाल कर सकता है।
  • इन सबके अलावा बहुत से छात्र दूसरे वोकेशनल कोर्स में भी व्यस्त होते है लेकिन साथ में भी डिग्री भी लेना चाहते है उनके लिए भी ये काफी उपयोगी है।
  • Distance Education छोटे शहरों के बच्चों के लिए काफी उपयोगी साबित हुआ है। छोटे शहरों के बच्चे को अच्छी यूनिवर्सिटी की डिग्री के लिए कही जाने की जरूरत नहीं पड़ती है वो अपने शहर में रहकर Distance Education के माध्यम से डिग्री प्राप्र्त कर सकते है

DISTANCE EDUCATION की विशेषताएँ –

  • Distance Education में विद्यार्थी को नियमित तौर पर किसी संस्थान में जाकर पढ़ाई करने की जरूरत नहीं होती।
  • सूचना क्रांति और इन्टरनेट के कारण Distance Education और आसान एवं प्रासंगिक हो गयी है।
  • विद्यार्थी अपनी आवश्यकता के अनुसार अपने पढ़ने की समय-तालिका बना सकते हैं।
  • कम खर्चीली - Distance Education से पढ़ाई करने की फीस काफी कम है।
  • सर्वसुलभ - विद्यार्थियों की संख्या की कोई सीमा नहीं
  • काम (जॉब) करने के साथ-साथ पढ़ाई की जा सकती है।
  • कम अंक आने पर भी मनपसंद कोर्स में दाखिला मिल जाता है।
  • किसी भी कोर्स के लिए उम्र बाधा नहीं होती है।
  • Distance Education में सबसे महत्वपूर्ण कार्य 'पाठ्य सामग्री तैयार करना' है। इसमें शिक्षक सामने नहीं होते। इसलिए पाठ्य सामग्री ही शिक्षक का काम करता है।
  • साधारण कोर्स के साथ ही वोकेशनल कोर्स तथा प्रोफेशनल कोर्स भी Distance Education के माध्यम से किये जा सकते हैं।
  • आजकल Distance Education के द्वारा विद्यार्थी ग्रेजुएट, एमफिल, पीएचडी, डिप्लोमा और सर्टिफिकेट आदि सभी कोर्स कर सकते हैं।
  • पत्राचार से किए गए कोर्सों की मान्यता कहीं कम नहीं आंकी जाती। ये भी उतने ही महत्वपूर्ण होते हैं जितने की रेग्युलर कोर्स।

कुछ उच्च Distance Education यूनिवर्सिटी –

  • Indira Gandhi National Open University, New Delhi
  • Yashwantrao C. Maharashtra Open University, Nashik
  • IMT Distance and Open Learning Institute, Ghaziabad
  • Sikkim Manipal University (SMU DDE), Gangtok
  • Jaipur National University, Jaipur

BCA के बारे में जाने :-


BCA क्या है: –

बहुत से छात्र 12 वी की पढाई के बाद कंप्यूटर में पढाई करना चाहते है। कंप्यूटर में पढाई के लिए BCA सबसे बढ़िया विकल्प है। अगर आपका वाकई में कंप्यूटर में काफी इंट्रेस्ट है तो ये आपको काफी बड़ी सफलताओं तक पंहुचा सकता है। क्योंकि हर दिन दुनिया नई आधुनिकता अपना पैर पसारती जा रही है।


BCA Full form: –

(Bachelor of computer application) आज के आधुनिक युग में बच्चों की कंप्यूटर में रूचि काफी बढ़ रही है। इसलिए स्टूडेंट 12वीं पास करने के बाद कंप्यूटर के फील्ड में जाना चाहते हैं और कंप्यूटर फील्ड में जाने के लिए बीसीए कोर्स काफी अच्छी चॉइस है। लेकिन इसमें एडमिशन लेने से पहले आपको इस डिग्री में अच्छी जानकारी होनी चाहिए ताकि आपको फैसला लेने में कठिनाई नही आये। है।


BCA क्या होता है:

बीसीएए प्रोफेशनल डिग्री कोर्स है। जिसका पूरा नाम (bachelor of computer application) होता है। जो कि एक अंडर ग्रेजुएशन डिग्री कोर्स है जो 3 साल का होता है। इस डिग्री में एडमिशन लेने के लिए छात्र का 12 वी पास होना अनिवार्य है। इसमें आपको कंप्यूटर एप्लीकेशन और कंप्यूटर साइंस से रिलेटेड चीजों के बारे में पढ़ाया जाता है। यह एक टेक्निकल डिग्री कोर्स है जिसमें स्टूडेंट को कंप्यूटर से रिलेटेड फील्ड के लिए तैयार किया जाता है जिसमें आगे जाकर के कंप्यूटर या फिर आईटी की फील्ड में आप आसानी से काम कर सकते हैं। इस कोर्स में कंप्यूटर के हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर पढाई करवाई जाती है। जिसमे स्टूडेंट दक्षता प्राप्त करके कंप्यूटर के फील्ड में अपना करियर बना सकता है।


BCA course मैं क्या सिखाया जाता है:

बीसीए में सॉफ्टवेयर बनाने के बारे में, कंप्यूटर की विभिन एप्लीकेशन के बारे में और कंप्यूटर लैंग्वेज के बारे में बताया जाता है। इन सब के आलावा कंप्यूटर में काम आने वाले समस्त हार्डवेयर पुर्जो के बारे में गहनता से बताया जाता है। एक दक्ष बीसीए स्टूडेंट को कंप्यूटर का बहुत अच्छा ज्ञान होता है। कंप्यूटर की सॉफ्टवेयर, एप्लीकेशन और हार्डवेयर से जुडी समस्या को आसानी से समझ के उससे सही कर सकता है।


BCA course के लिए योग्यता:

बीसीए कोर्स के लिए 12वीं पास होना जरुरी है। किसी - किसी कॉलेज में बीसीए कोर्स के लिए साइंस सब्जेक्ट भी मांगते हैं या फिर 12वीं में मैथ्स या फिर कंप्यूटर साइंस मांगते हैं।
ट्वेल्थ में कम से कम 45% नंबर होने चाहिए।


BCA में एडमिशन की प्रक्रिया:

बीसीए में एडमिशन के लिए सबसे पहले आपकी योग्यता होनी चाहिए। उसके बाद अगर आप एक अच्छे कॉलेज से ये डिग्री लेना चाहते है तो उसके लिए आपको उस कॉलेज का entrance exam पास करना जरुरी होता है। आप रेगुलर के साथ डिस्टेंस एजुकेशन के माध्यम से भी बीसीए की डिग्री प्राप्त कर सकते हो। कई बार कुछ कारणों की वजह कुछ स्टूडेंट रेगुलर में एडमिशन नहीं ले पाते है। ऐसे मे वो डिस्टेंस एजुकेशन से भी बीसीए की पढाई कर सकते है। कुछ स्टूडेंट डिस्टेंस से पढाई के साथ कंप्यूटर से जुडी कोई नौकरी भी करते है रहते है जिससे जब उनकी डिग्री पूरी होती है तो उनके पास 3 साल का अनुभव भी होता है। जिससे उनको इस फील्ड जल्दी सफलता मिलती है। खासकर प्राइवेट सेक्टर में अनुभवी को ज्यादा सैलरी और प्राथमिकता दी जाती है।


BCA Course कितने साल का होता है और क्या पढ़ाया जाता है:

जैसे ही आपका कॉलेज में एडमिशन हो जाता है उसके बाद आपको 3 साल तक बीसीए कोर्स की पढ़ाई करनी होगी जिसमें आपको computer basic, network, website development, programming language, इत्यादि के बारे में पढ़ाया जाता है। जिसमें कुल 6 सेमेस्टर होते हैं जिसमें आपको लास्ट सेमेस्टर में प्रोजेक्ट सबमिट करना होता है जो कि बहुत ही इंपॉर्टेंट है प्रोजेक्ट कंप्लीट करने के बाद ही आपका बीसीए पूरा होता है।


BCA College or University:

  • Christ University Bangalore
  • Madras Christian College Chennai
  • Jaipur National University
  • Symbiosis institute Pune
  • Presidency College Bangalore
  • SRM University Chennai
  • Arise College Udaipur
  • Institute of management studies Noida
  • Birla institute of tech Ranchi

BCA Course मैं सैलरी:

अगर बात सैलरी की करे तो एक बीसीए किया व्यक्ति किसी भी कंपनी के कंप्यूटर डिपार्टमेंट काम कर सकता है। अगर आप अनुभवी है मतलब आपने पढाई के साथ इस फील्ड में काम भी किया है तो आपको 20 से 30 हजार तक सैलरी मिल सकती है और अगर आप ने काम नहीं किया है तो आपको 15 से 20 हजार तक मिल सकता है। इन सबके अलावा अगर आपके पास इस काम का अनुभव है तो डिग्री मिलने के बाद आप अपना खुद का बिज़नेस भी शुरू कर सकते है जिसमे आप अपने काम से कितने भी पैसे कमा सकते है। और तो और आप कंप्यूटर के फील्ड में और एडवांस पढाई कर सकते है और कुछ बड़ा कर सकते है।

MBA के बारे में जाने:-


MBA क्या होता है? –

MBA full form (master of business administration) जो कि 2 वर्षों की बहुत ही प्रतिष्ठित डिग्री है। एमबीए करने के दौरान ऑफिस मैनेजमेंट के बारे में जानकारी हासिल करते हैं और यहां पर आप ही सीखते हैं कि इस बिजनेस को कैसे सक्सेसफुल बनाया जाए उस में कैसे सफल हुआ जाए करने के तरीके से जुड़ी कई इंपोर्टेंट जानकारी एमबीए में प्राप्त कर सकते हैं।
एमबीए कई क्षेत्र में होता है जैसे बैंकिंग, फाइनेंस, मार्केटिंग, रिटेल, फॉरेन, कल्चर, आदि। और अभी कुछ सालो में इसमें और भी कई नए सब्जेक्ट जुड़ चुके है। जिस क्षेत्र में आपकी रूचि होती है आप उसमे एमबीए कर सकते है। एमबीए करने से पहले आपको एंट्रेस एग्जाम देना होता है।


MBA कौन कर सकता है?

एमबीए कौन कर सकता है ये सवाल कई लोगो के मन में आता है और कई लोगो को ऐसा लगता है की एमबीए उन लोगो के लिए जिनके परिवार का या खुद का कोई बिज़नेस होता है। लेकिन ऐसा नहीं एमबीए हर वो व्यक्ति कर सकता है। जो किसी भी अच्छी कंपनी में मैनेजर या उससे ऊंची पोस्ट प्राप्त करना चाहता है।
अगर बात शैक्षणिक योग्यता की करे तो एमबीए के करने के लिए आपको मिनिमम 50% अंकों के साथ ग्रेजुएशन पास करना जरूरी है। इसके अलावा एमबीए में एडमिशन लेने के लिए प्रवेश परीक्षाओं में सफल होना भी जरूरी है। CMAT, XAT, MAT, GMAT, NMAT परीक्षाओं या इनके अलावा कुछ अन्य प्रवेश परीक्षाओं के माध्यम से भी एमबीए में प्रवेश पाया जा सकता है।
कुछ कॉलेज में एमबीए में एडमिशन के लिए बहुत सारी शर्तों के अलावा 1 या 2 सालों का किसी कंपनी में एक्सपीरियंस भी मांगा जाता है। 12th के बाद एनडीए जी हां आप 12वीं के बाद भी सीधे एमबीए कर सकते हैं क्योंकि 5 साल का कोर्स होता है जिसमें BBA+MBA होता है। किंतु यह सुविधा कुछ ही यूनिवर्सिटीज में है।


MBA Entrance Exam Name

  • CAT - common admission test
  • IBSAT - ICFAI business studies aptitude test
  • SNAP - symbiosis National aptitude test
  • XAT - Xavier aptitude test
  • IIFT - Indian institute of foreign Trade
  • CMAT - common management admission test
  • NMAT - narseemonjee admission test

MBA Important Fields

  • Human resource:- Human resource यानी मानव संसाधन। इसके अंतर्गत आप कंपनी में कर्मचारी अधिकारी की भर्ती, स्टाफ से काम कराना, सैलरी, लीव, आदि का प्रबंध सीखेंगे।
  • Banking:- यदि आप किसी बैंक में अच्छे पद पर कार्य करना चाहते हैं तो आपके लिए यह एक बेहतरीन विकल्प हो सकता है।
  • Finance:- बैंकिंग की ही तरह फाइनेंस का भी मार्केट काफी बढ़ा है। ऐसे में इस क्षेत्र में एमबीए करना भी सही साबित हो सकता है। इसमें आपको फाइनेंस से जुड़े क्षेत्र में काम कर सकते है या किसी भी कंपनी में फाइनेंस डिपार्टमेंट में काम कर सकते है।
  • Information technology:- इस क्षेत्र में आप आईटीजगत के बारे में जानते है। आज कल Information technology एक्सपर्ट की भी हर कंपनी में जरूरत होती है। आधुनिक युग में Information technology के बिना काम संभव है नहीं और इसके हर कंपनी को इसके अच्छे जानकारों के जरूरत रहती है।
  • Marketing: - मार्केटिंग के ऐसा क्षेत्र है जिसमे जॉब की अपार संभावना है। किसी भी कंपनी सफल बनाने के पीछे उनके मार्केटिंग एक्सपर्ट और मार्केटिंग टीम का बहुत बड़ा हाथ होता है। मार्केटिंग में एमबीए करके आप किसी भी कंपनी में बहुत ही अच्छी सैलरी और प्रतिष्ठा पा सकते हो।

MBA कहां से किया जाए?

IIM यानी कि Indian institute of management) इसमें इंदौर, अहमदाबाद, बेंगलुरु, कोलकाता,और लखनऊ में है जो एमबीए करने के लिए बेस्ट है किंतु यहां पर एंट्री पाना इतना आसान नहीं है इसके लिए आपको बहुत कठिन परिश्रम करना पड़ेगा आई एम के अलावा और भी कई सारी यूनिवर्सिटीज है जहां से आप एमबीए कर सकते हैं। इन सब के अलावा आज के दौर एमबीए एक ऐसी डिग्री है जिसमे वैल्यू हर कंपनी होती है। इसलिए एमबीए को किसी भी कॉलेज से किया जा सकता है। और तो और डिस्टेंस एजुकेशन के माध्यम से भी एमबीए की जा सकती है। डिस्टेंस एजुकेशन से एमबीए करने का सबसे अच्छा फायदा ये होता है की कोई भी व्यक्ति पहले से कंपनी में काम करते हुए भी डिग्री लेकर कंपनी में अपनी पोस्ट और सैलरी में विकास देख सकता है। उसके अलावा बहुत से लोग नौकरी के साथ ही एमबीए करना चाहते है वो भी डिस्टेंस एजुकेशन से अपनी ये चाहत पूरी कर सकते है।


MBA की फीस कितनी होती है?

MBA की फीस कितनी होती है उसका जवाब है कि एमबीए की फीस तकरीबन एक लाख से शुरू होती है और 10 से 12 लाख तक भी हो सकती है क्यों निर्भर करता है कि आप किस कॉलेज में एंट्री ले रहे हैं। इस कोर्स में आपको अलग-अलग कॉलेज में अलग-अलग फीस लगती है लेकिन प्राइवेट कॉलेज में आपको हमेशा ही ज्यादा फीस लगेगी और गवर्नमेंट पर थोड़ी कम फीस लगती है और रेगुलर एमबीए की फीस अलग होती है डिस्टेंस एमबीए कोर्स की फीस अलग होती है। जब आप रेगुलर से एमबीए कोर्स करते हैं तो इसकी फीस 5 से 15 लाख लग जाती है 1 साल का और अगर आप डिस्टेंस एमबीए करते हैं तो इसमें आपका 20 हजार से एक लाख तक लग जाता है। यदि आप कोई भी नौकरी करते हुए एमबीए करना चाहते है तो डिस्टेंस एमबीए एक सही विकल्प है।


MBA करने के बाद सैलरी कितनी मिलती है?

एमबीए करने के बाद सैलरी में बढ़ोतरी होती ही यदि आप बिलकुल फ्रेशर है तो आपको शुरुआत में 25 से 40 हजार तक सैलरी मिल जाती है। और यदि आप एक्सपीरियंस वाले है तो ये सैलरी ज्यादा होती है। इसके कुछ लोग पहले से किसी कंपनी में कार्यरत होते है तो डिस्टेंस एमबीए से उन्हें उसी कंपनी एक उच्ची छलांग लगाने का मौका मिलता है।


क्या MBA हिंदी माध्यम से हो सकती है?

एमबीए एक प्रोफेशनल और एक बड़ी डिग्री है। ये हिंदी में नहीं किया जा सकता। अगर कोई इससे हिंदी करता भी है इसके इतनी महत्वता नहीं रह जाएगी। इसलिए यदि आपको एमबीए करना है तो सबसे पहले अपनी इंग्लिश पर अच्छा काम कीजिये तभी एमबीए करना आपके आसान और फायदेमंद होगा।


Get Contact Online Instantly


We'd love to here from you, be sure we will reply as soon as possible.


Contact Us